गुजरात में आरक्षण की मांग को एक बार फिर से बुलंद करने और अपने नेता हार्दिक पटेल सहित जेल में बंद पाटीदार युवाओं को छुड़वाने के लिए रविवार को पाटीदार समाज के दो बड़े संगठनों ने जेल भरो आंदोलन की घोषणा की थी। मेहसाणा में पुलिस ने कार्यक्रम को मंजूरी नहीं दी, लेकिन बड़ी संख्या में पाटीदार जमा हुए थे।

करीब दोपहर 12 बजे बड़ी संख्या में पाटीदार युवाओं ने पुलिस की तरफ मार्च शुरू कर दिया। इसी बीच थोड़ी देर में पुलिस के साथ उनकी झड़प हो गई और फिर दोनों तरफ से पथराव हुआ और पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी। पुलिस ने हवा में फायरिंग भी की और गुस्साई भीड़ ने कई वाहनों में आग लगा दी।

बढ़ती हिंसा को देखते हुए पुलिस ने महेसाणा में कर्फ्यू लगा दिया। साथ ही वहां इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं। पाटीदार संस्थाओं ने पुलिस कार्रवाई को पुलिस दमन बताते हुए सोमवार को गुजरात बंध की घोषणा कर दी है।