फाइल फोटो
फाइल फोटो
फाइल फोटो

देहरादून: उत्तराखंड में पिछले कई दिनों से चल रहे सियासी घमासान के बीच कांग्रेस के लिए आज बड़ा दिन है। आज उन्हें विधानसभा में बहुमत साबित करना है। कांग्रेस के नौ बागी विधायक फ्लोर टेस्ट के दौरान वोट नहीं कर पाएंगे, जिसके बाद बहुमत का आंकड़ा 32 होगा।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, सुबह 11 बजे से फ्लोर टेस्ट होगा। इस दौरान दो घंटे के लिए राष्ट्रपति शासन हटाया जाएगा। फ्लोर टेस्ट के दौरान विधानसभा में मोबाइल फोन ले जाने पर पाबंदी होगी। कोर्ट ने शक्ति परीक्षण के लिए विधानसभा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

बागी विधायक रहेंगे अयोग्य
सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को उत्तराखंड हाईकोर्ट के उस फैसले पर रोक लगाने से इंकार कर दिया जिसमें कांग्रेस के 9 बाग़ी विधायकों को अयोग्य करार दिया गया था। इस फैसले के परिणामस्वरूप ये बाग़ी विधायक मंगलवार को सदन में होने वाले विश्वास मत के दौरान वोट नहीं डाल पाएंगे। मामले में अंतरिम राहत देने पर अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 12 जुलाई को होगी। इससे पहले  विधानसभा अध्यक्ष ने इन विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया था और उत्तराखंड हाईकोर्ट ने सोमवार को ही एक फैसले में विधानसभा अध्यक्ष के निर्णय को सही ठहराया।

ये हैं कांग्रेस के 9 बाग़ी विधायक
अमृता रावत
हरक सिंह रावत
प्रदीप बतरा
प्रणव सिंह
शैला रानी रावत
शैलेंद्र मोहन सिंघल
सुबोध उनियाल
उमेश शर्मा
विजय बहुगुणा

नोट: आभार ndtv इंडिया वेबसाइट.