lokesh mजिलाधिकारी ने कहा कि स्कूल चलो अभियान के तहत छह से चौदह वर्ष तक के बच्चों का सौ फीसद नामांकन कराया जाना है। इसे लेकर खंड शिक्षा अधिकारी, परिषदीय शिक्षक व ग्राम प्रधान अपने-अपने क्षेत्र में घर-घर संपर्क कर बच्चों का स्कूलों में नामांकन कराना सुनिश्चित कराएंगें। अभियान की शुरुआत विद्यालय पर सरस्वती पूजन के साथ सभा कर तथा बच्चों के बीच मिठाइयां बांट कर की जाएगी। इस मौके पर शिक्षक द्वारा जनप्रतिनिधि की भी उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाएगी, जो अभिभावकों से बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करेंगे। डीएम ने कहा कि बच्चों को प्रत्येक दिन विद्यालय आने के लिए प्रेरित करने का भी कार्य किया जाएगा। जिन विद्यालयों में बेहतर साफ-सफाई, शौचालय आदि की व्यवस्था नहीं होगी वहां प्रधान इसकी व्यवस्था राज्यवित्त व चौदहवें वित्त द्वारा कराएंगें। टूटे फर्श आदि की भी मरम्मत कराई जाएगी। इसमें शिथिलता बरते जाने पर संबंधित अधिकारी व कर्मचारी की जवाबदेही तय कर कार्रवाई की जाएगी।