देवरिया : देवरिया प्रशासन ने 7 वर्ष पूर्व मर चुके युवक को जिला बदर की कार्यवाही कर दी है।तथा जिसका पालन कराने के लिये कोतवाली पुलिस द्वारा दबिश भी दिया जा रहा है।

जिससे परिजन परेशान है अब इन्होंने इस पूरे मामले को साक्षी सहित मानवाधिकार आयोग में शिकायत की है।जिसके बाद पूरे मामले पर जांच हो रही है।

वही अब प्रशासन व पुलिस युवक के परिजनों को लापरवाही बता फसते हुये गले से निकलना शुरू कर दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार शहर के ठठेरी गली के रहने वाले राज होटल के मालिक अम्बरीश सिंह के बेटे राणा विश्वविजय सिंह पर कोतवाली पुलिस ने वर्ष 2011 में मारपीट का मामला दर्ज हुआ था।

तथा परिजनों का कहना है की नाबालिग होने के बावजूद पुलिस ने गैंगेस्टर एक्ट भी लगा दिया था। वही 2012 में राणा विश्वविजय की हत्या हो गयी।

वही गैंगेस्टर एक्ट का मामला कागजों में जीवित रहा और जब 2019 के लोकसभा चुनाव के समय प्रशासन ने जीवित एक्ट में राणा विश्वविजय को मऊ में जिलाबदर की कार्यवाही कर दी।

जिसका पालन कराने के लिये पुलिस लगातार होटल पर जा पूछताछ कर रही थी।मामला उजागर होने पर घिरी प्रशासन ने मामले को खत्म कर दिया है।